Cyber Lawyer कैसे बने? Internet Lawyer | Law Career Guide

साइबर लॉ law students के लिए एक आकर्षक कैरियर विकल्पों में से एक है। “Cyber” कंप्यूटर और Information Technology (आईटी) से संबंधित शब्द है। जैसा कि हम जानते हैं कि आईटी क्षेत्र कितनी तेजी से बढ़ रहा है, और इसका प्रभाव हम हर जगह देख सकते हैं, समाज डिजिटलीकरण की ओर बढ़ रहे हैं, आजकल सभी कम्पनीस ऑनलाइन इंटरनेट पर उपलब्ध है, और  मुझे नहीं लगता कि यह जल्द ही खत्म हो जाएगा, बल्कि ये तो और बढ़ता चला जायेगा|

इस तेजी से बढ़ते उद्योग का हिस्सा बनना हमेशा ही एक अच्छा विकल्प होगा। और अगर हम कानून के साथ Cyber World को जोड़ते हैं (साइबर + लॉ), तो यह एक ऐसा करियर मार्ग बन जाता है जिसको फॉलो करना काफी रोचक और आकर्षक है|

कभी-कभी लोग साइबर लॉयर को Internet का लॉयर भी कह देते हैं, जोकि कहना गलत नहीं है, आखिर कार एक साइबर लॉयर इनटरनेट के साथ ही तो डीलिंग करता है

तो आइए जानें कि साइबर वकील कैसे बनें और इस आकर्षक करियर विकल्प का हिस्सा कैसे बनें। आपको “Cyber Lawyer कैसे बने” के इस आर्टिकल में ये सब महत्वपूर्ण जानकारियां मिलेंगी…

(Internet Lawyer) Cyber Lawyer कैसे बने? Step-by-Step

[Step 1] High School (10+2)

अधिकांश करियर विकल्पों की ओर बढ़ने में यह पहला कदम ही होता है। इसलिए आपको भी साइबर लॉयर बनने के लिए senior secondary high school (12वीं) को पास करना होगा। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपकी 12 वीं बोर्ड परीक्षा में कौन सी साइट (Arts/Commerce/Science) थी।

ज्यादातर छात्र सोचते हैं कि साइबर (इंटरनेट) तकनीक से संबंधित है इसलिए साइबर वकील बनने के लिए आपके पास science site होनी चाहिए। यह कई छात्रों के बीच एक साधारण गलतफहमी है। इस प्रकार की ऐसी कोई आवश्यकता नहीं है कि आपके 12वीं कक्षा में विज्ञान से संबंधित विषय हो।

आप 10वीं के बाद किसी भी साइट को सेलेक्ट करके एक साइबर लॉयर बन सकते हैं|

[Step 2] Law Entrance Examination

भारत के सर्वोच्च और बेहतरीन कानून कॉलेजों में प्रवेश पाने के लिए आपको law entrance exams देने के लिए तैयार रहना पड़ेगा । प्रत्येक राज्य और  विश्वविद्यालयों द्वारा पूरे भारत में विभिन्न प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं। हालांकि कुछ परीक्षाएं आम हैं, जो विभिन्न कानून महाविद्यालयों और कॉलेजेस में प्रवेश पाने के लिए एक प्रवेश द्वार के रूप में कार्य करती हैं।

CLAT (Common Law Admission Test) के द्वारा आप भारत के संबसे बेहतरीन लॉ कॉलेजेस में एडमिशन पा सकते हैं, यहाँ तक के भारत के लगबघ हर लॉ कॉलेजेस और यूनिवर्सिटीज में आप एडमिशन ले सकते हैं|

CLAT और AILET स्टूडेंट्स के बीच सबसे लोकप्रिय प्रवेश परीक्षा है, इन दो exams को हर वो स्टूडेंट देता है जो लॉ में अपना करियर बनाना चाहता है| तो आपके लिए भी इन दो परीक्षाओं के लिए तयारी करना और एग्जाम में बैठना एक अच्छा विकल्प होगा।

[Step 3] Complete graduation in Law

लॉयर बनने के लिए, आपके पास एलएलबी की डिग्री होना चाहिए| एडमिशन लेते टाइम ये जरूर सुनिश्चित करें के आप जिस कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एडमिशन ले रहें हैं वो Bar Council of India से प्रमाणित है| ये आपको तब चेक करना है जब आप लॉ करने केलिए किसी प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन लेने जा रहे हों|

आपके पास वकील बनने के लिए दो अलग-अलग शिक्षा मार्ग हैं, विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए यहां क्लिक करें

[Step 4] Postgraduate Diploma/ LLM (Masters of laws) in Cyber Law

अपनी कानून की डिग्री पूरी करने के बाद आपको साइबर लॉ में विशेषज्ञता हासिल करनी होगी। इसके लिए आपको साइबर और इंटरनेट लॉ में डिप्लोमा करना होगा , भारत में कई प्रतिष्ठित विश्विद्यालय हैं जो लॉ  ग्रेजुएट्स के लिए डिंप्लोमा प्रोग्राम का आयोजित करती हैं|

आप डिप्लोमा न करने के बजाये आप साइबर लॉ में पोस्टग्रेडुएशन भी कर सकते हैं| जिसके लिए आपको LLM में admission लेना होगा| आप LLM करने के लिए same कॉलेज में भी एडमिशन के लिए अप्लाई कर सकते हैं जहाँ से आपने LLB की है (अगर उपलब्ध है तो जोकि most of the cases में होती ही है)|

हालाँकि ज्यादातर वकील जो के एक साइबर लॉयर बनना चाहतें वह पोस्टग्रेडुएशन (LLM) में एडमिशन न लेकर डिप्लोमा करना ज्यादा पसंद करते हैं| इन दो कारणों की वजह से…

  1. वर्तमान परिदृश्य में भारत के बहुत कम कॉलेज ऐसे हैं, जो internet and cyber law में LLM करवाते हैं|
  2. डिप्लोमा करने में आमतौर पर 6 महीने से 1 वर्ष का समय लगता है, जबकि LLM डिग्री प्रोग्राम 1 से 2 साल का होता है| LLM की तुलना में डिप्लोमा की अवधि कम है, इसलिए ज्यादातर लॉ ग्रेजुएट्स डिप्लोमा करना पसंद करते हैं|

साइबर लॉ में डिप्लोमा कार्यक्रम की पेशकश करने वाले कॉलेजों को जानने के लिए “Cyber Lawyer kaise bane” के इस पोस्ट को  नीचे स्क्रॉल करें

[Step 5] Register at BAR Council

वास्तविक जीवन (अदालत) में लॉ का अभ्यास करने केलिए, जो आपने अबतक सिर्फ लॉ की किताबों में पढ़ा था, आपको एक प्रमाण पत्र / पहचान पत्र की आवश्यकता है, जो सुनिश्चित करता है कि आपके पास अदालत में कानून का अभ्यास करने की क्षमता है।

अदालत परिसर में अभ्यास के लिए प्रमाणीकरण प्राप्त करने के लिए भारतीय वकील अधिनियम, 1961 के तहत अपना नाम पंजीकृत करना होगा Bar Council of India में|

उस संबंधित राज्य की Bar Council में पंजीकरण करें, जहां आप कानून का अभ्यास करना चाहते हैं।

ज्यादातर लॉयर उस स्टेट में वकालत करना चाहते है जहाँ से वो बिलोंग करते हैं, इसलिए वो उसी स्टेट के Bar Council के member बनते हैं|

Bar Council of Delhi में नाम रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को जानें

[Step 6] Junior Assistant

Bar Council of India में एक वकील के रूप में दाखिला लेने के बाद आप किसी भी ऐसे लॉयर को ज्वाइन कर सकते हैं जो कानून के एक विशेष क्षेत्र (साइबर लॉ) में माहिर हो|

आप एक सहायक वकील के रूप में आपराधिक कानून विशेषज्ञ या वरिष्ठ आपराधिक वकील के साथ काम कर सकते हैं। आपके प्रशिक्षण / इंटर्नशिप अवधि के दौरान आपको जो अनुभव मिलेगा वह आपको आसानी से अगली बाधा (चरण 7) को पास करने में मदद करेगा।

[Step 7] AIBE

यह आखिरी कदम है जहाँ पहुँचने के बाद आप अपने बारे में गर्व से कह सकते हैं कि आप एक वकील हैं, जो भारतीय अदालत में अपने कानून अध्ययन का अभ्यास कर सकते हैं। इस विशेष दिन के लिए, आपको AIBE (All India Bar Examination) परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी, जो कि बार काउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा आयोजित की जाती है।

AIBE परीक्षा से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए यहां क्लिक करें। AIBE परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद आपको एक प्रमाण पत्र मिलेगा जो दिखाता है कि आप अभ्यास करने के योग्य हैं। और आप आधिकारिक तौर पर भारत की बार काउंसिल या संबंधित राज्य के बार के सदस्य बन जाते हैं।

[Step 8] Cyber Lawyer Or Internet Lawyer

अब आप एक अधिकृत साइबर वकील हैं, इसलिए अब आप मुकदमेबाजी में भाग ले सकते हैं और किसी भी तरह के केस को कोर्ट में दर्ज या याचिका दायर कर सकते हैं। अदालत परिसर में अभ्यास करने के अलावा भी, आप बड़ी बहुराष्ट्रीय कंपनियों (multinational companies) को अपनी सेवाएं भी दे सकते हैं।

तो साइबर वकील बनने के बाद आप सरकार (Public Sector) और निजी क्षेत्र (Private Sector) के लिए काम कर सकते हैं या एक ही समय में दोनों क्षेत्रों में काम कर सकते हैं।

Note: साइबर लॉ में postgraduate diploma डिग्री पूरी करने के बाद; यदि आप आईटी उद्योग के लिए काम करना चाहते हैं Orअदालत मुक़दमे लड़ने के बजाए कुछ Law firms या किसी निजी संस्थान (Private institution) में शामिल होना चाहते हैं तो आपको 4th step के बाद आगे के steps का पालन नहीं करना पड़ेगा। इस प्रकार आपको भारत की Bar Council या किसी संबंधित Bar काउंसिल में खुद को नामांकन करने की आवश्यकता नहीं है।

यह भी आर्टिकल्स पढ़ें:

यदि आपके पास B.Tech की डिग्री है तो आप एक और वैकल्पिक तरीके के अनुसार भी Cyber Lawyer बन सकते हैं| जैसा के आपने ऊपर के सभी स्टेप्स जाने एक Cyber Lawyer बनने के, यह एक पारम्परिक तरीका है, जिसको अधिकांश छात्र चुनते हैं एक साइबर लॉयर बनने के लिए| चूंकि आपके पास तकनीकी पृष्ठभूमि है इसलिए आप साइबर वकील या साइबर कानून विशेषज्ञ बनने के लिए एक और मार्ग का अनुसरण कर सकते हैं।

जानें वैकल्पिक तरीके के अनुसार Cyber Lawyer कैसे बने? (Law after B.Tech)

 

साइबर लॉ में डिप्लोमा कराने वाले कॉलेज कौन से हैं?

ये निम्नलिखित कॉलेज हैं, जोकि भारत के सबसे प्रतिष्ठित लॉ कॉलेजों में से हैं, जहां पर आप डिप्लोमा कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं

इन कॉलेजों के डिप्लोमा पाठ्यक्रमों में एडमिशन लेने केलिए लिए आपके  LLB की डिग्री में प्राप्त अंक  (प्रतिशत) को देखा जायेगा। मतलब के आपका सिलेक्शन मेरिट के आधार पर होगा| मेरिट के अलावा आपको एडमिशन इस आधार पर भी मिल सकता है के आपने एडमिशन केलिए आवेदन पहले किया और स्टूडेंट्स के मुक़ाबले, जो पहले एडमिशन केलिए आएगा उसको एडमिशन पहले मिलेगा (first come, first served basis)

 

एक Cyber Lawyer बनने केलिए आवश्यक कौशल (Skills) क्या हैं?  

यदि आप साइबर लॉयर / साइबर लॉ विशेषज्ञ बनना चाहतें हैं, तो ये कुछ निर्धारित कौशल सेट हैं, जोकि आपके पास होने ही चाहिए…

  • Networking [OSI Model, TCP/IP suite, Digital Certificates]
  • इंटरनेट पर वेबसाइट कैसे काम करती हैं और कैसे बनती हैं (Web Technology)
  • Operating System [Windows, Mac, Linux]
  • Computer, mobiles, tablets
  • (डिजिटल एविडेंस) Electronic Evidence
  • Computer forensics
  • तार्किक और विश्लेषणात्मक (Logical and Analytical)
  • सही निर्णय लेने की सलाहियत (Judgment and Decision Making)
  • महत्वपूर्ण विचार कौशल (Critical Thinking)
  • सामान्य जागरूकता

ऊपर उल्लिखित तकनीकी कौशल (technical skill) विकसित करने केलिए आप इन दो कोर्सेज को कर सकते हैं| | आप इन दो सर्टिफिकेशन को वकील बनने के बाद भी कर सकते हैं|

Recommended certification वकील बनने के बाद (लॉ की डिग्री हासिल करने के बाद)

  1. CEH (Certified Ethical Hacker) CEH certification के बारे में जानने के लिए यहां क्लिक करें
  2. CCNA R&S (Cisco Certified Network Associate Routing & Switching (CCNA) / CompTIA Network+

जानें CCNA and Network+ के बारे में,  और आपको इन प्रमाणपत्रों (certifications) को क्यों प्राप्त करना चाहिए?

ये IT certifications दुनियाभर में अच्छी तरह से ज्ञात IT प्रमाणन हैं, जोकि बहोत ही नामी और वैल्यू वाले प्रोग्राम हैं| आप LLB करते समय भी इन प्रमाणपत्रों को कर सकते हैं।

 

साइबर लॉ के डिप्लोमा कार्यक्रम में आप क्या सीखेंगे?

  • साइबर दुनिया की मूल बातें और नियामक ढांचे का परिचय
  • सूचना प्रौद्योगिकी (IT) अधिनियम
  • Electronic records
  • डिजिटल हस्ताक्षर प्रमाण (certificate) पत्र और प्रमाणन प्राधिकरण
  • E-Commerce
  • साइबर स्पेस के नियम क्या हैं?
  • भारत में साइबर अपराधों का कानून
  • साइबर अपराध और समाज पर उनके प्रभाव
  • भारतीय व विदेशी कानूनी प्रणाली का परिचय
  • साइबर वर्ल्ड में बौद्धिक संपदा अधिकार (Intellectual Property Rights)
  • साइबर मामलों के तकनीकी-कानूनी पहलुओं का निबंध / अनुसंधान कार्य / प्रदर्शन

 

एक साइबर लॉयर क्या करता है? (Job Description)

आज के टाइम में साइबर सुरक्षा एक प्रमुख चिंता का विषय है और आने वाले टाइम में भी रहेगा, यह हर एक देश के लिए सबसे बड़ा खतरा है, इसलिए यह साइबर वकील की जिम्मेदारी है कि वह साइबर अपराधियों से अदालत में अपनी शिक्षा का उपयोग करके उनको सजा दिलवाये|

साइबर लॉयर अदालत में साइबर से सम्भंदित (Computer या किसी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस से होने वाले अपराध को Cyber Crime कहते हैं) सभी अपराधों के केस को सॉल्व करता है|

साइबर स्पेस से संबंधित कानूनी कानूनों (legal laws) के बारे में कंपनियों को सलाह देना और मार्गदर्शन करना|

एक साइबर वकील सॉफ़्टवेयर चोरी, हैकिंग, सॉफ़्टवेयर की क्रैकिंग, क्रेडिट कार्ड धोखाधड़ी, खराब कार्य वायरस, साइबर हमलों और खतरों, बौद्धिक संपदा, अश्लील साहित्य, कॉपीराइट और ट्रेडमार्क, मेल बम, बग शोषण और अन्य इंटरनेट घोटालों से संबंधित मामलों में एक्सपर्ट होता है, अतः वो इन सभी मामलों पर कोर्ट में केस लड़ता है अपने क्लाइंट की और से|

Client से प्राप्त इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्य (Electronic Evidence) का विश्लेषण करना। विश्वसनीय और ठोस सबूत इकट्ठा करने के लिए साइबर वकील को ई-मेल जांच, ई-मेल ट्रैकिंग, आईपी ट्रैकिंग, साइबर फोरेंसिक जांच, ई-मेल और हार्ड ड्राइव की recovery, पासवर्ड और संदेशों को डिक्रिप्ट करना, और साइबर अपराध जांच, जैसी विभिन्न जांच विधियों को करना पड़ता है।

 

Cyber Lawyer और Advocate (मुकदमेबाजी में एक्सपर्ट लॉयर) के बीच अंतर

Advocate

वकील (Advocate) वह व्यक्ति होता है जो कानून के किसी विशेष क्षेत्र में माहिर है जिसे न्यायालय कानूनी प्रणाली और प्रक्रिया में मुकदमा और प्रतिभागी कहा जाता है।

एक वकील समाज के आपराधिक और नागरिक मामलों में एक विशेषज्ञ होता है। अदालत मुकदमा पर उनकी mastery होती है।

जानें: Advocate कैसे बने

Cyber Lawyer

साइबर स्पेस (इंटरनेट दुनिया / आभासी दुनिया) पर आपराधिक मामलों को संभालने में एक साइबर वकील विशेषज्ञ होता है। कानून में अन्य करियर विकल्पों के अलावा, साइबर कानून प्रौद्योगिकी के नजदीक है, इसलिए एक साइबर वकील होने का मतलब है कि आप एक तकनीक-समझदार व्यक्ति हैं, जो काफी आकर्षक है बात है।

 

Career Scope of Cyber Lawyer

इंटरनेट के शुरुआती दौर में, जब इसका विकास होना शुरू हुआ था (1950 से 1990 के दौरान), तब आपको साइबर लॉ के बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं थी| क्योंकि उस समय इंटरनेट पर अपराधों के संबंध में किसी भी देश व सरकार ने इसके सन्दर्भ में कोई कानून और व्यवस्था परिभाषित  नहीं किया था।

और इंटरनेट के शुरुआती चरण से वर्तमान चरण तक यह पर्यावरण पर हवा की तरह फैल रहा है। और हमारे सामने है, आज के दौर में हम इंटरनेट के बिना अपने जीवन की उम्मीद नहीं कर सकते हैं, यह हमारे दैनिक जीवन का हिस्सा बन चूका है जो सब कुछ केवल एक क्लिक के साथ सुलभ बनाता है, जैसे के हमारा electricity और phone bill का भुगतान केवल एक क्लिक से हो जाता है|।

इस तरह की बिजली की गति के साथ इंटरनेट का प्रसार सरकार के लिए एक बड़ी चिंता का विषय है क्योंकि हर अच्छी चीज में एक न एक बुरा पहलू तो निकल ही जाता है| हर दिन हम समाचार पत्र / टेलीविज़न में विभिन्न साइबर अपराधों के बारे में पढ़ते हैं।

इसलिए साइबर स्पेस (इंटरनेट) कानून के दायरे में होना चाहिए, और इस पर भी कुछ नियम लागू होने चाहिए ताकि हम इंटरनेट पर धोखाधड़ी (अपराध) करने वालों को दंडित कर सकें। इसलिए सरकार ने साइबर स्पेस के लिए नियमों और विनियमन के कुछ प्रकारों को परिभाषित किया।

इंटरनेट अभी भी विकासशील (developing) चरण में है, इस प्रकार आप यह मान सकते हैं कि इंटरनेट का भविष्य क्या होगा। इंटरनेट से अरबों-खरबों लोग जुड़े हैं और इनमे से हर दिन लाखों लोग साइबर क्राइम का शिकार बन जाते हैं।

यदि हम व्यवसायों (businesses) के बारे में बात करते हैं, तो हर बढ़ता हुआ व्यवसाय आज इंटरनेट से जुड़ रहा है और जुड़ना चाहता है| और इन व्यवसायों का लेनदेन भारी मात्रा में इंटरनेट के जरिये ही होता है। तो इस लेनदेन को सुरक्षित बनाने के लिए हमें कुछ नियमों और विनियमों (rules and regulations) की आवश्यकता है।

तो यदि इंटरनेट पर कुछ भी गलत हो जाता है तो हमारे पास कुछ परिभाषित कानून हैं, जिनका उपयोग हम अपने बचाव के लिए कर सकते हैं और अपराधी को दंडित कर सकते हैं। और जब बात साइबर अपराधों के मामले में कोर्ट से सजा दिलाने की होतो, हमें किसी ऐसे व्यक्ति की आवश्यकता है जो साइबर कानून में मुकदमेबाजी और विशेषज्ञ है यानी साइबर क्राइम पीड़ितों को साइबर लॉयर के पास आना होगा|

साइबर लॉ के भविष्य की डिमांड के बारे में जानने के लिए Mr Pavan Duggal के इस वीडियो को देखें। वह भारत के सुप्रीम कोर्ट में वकील हैं और साइबर लॉ विशेषज्ञ (Cyber Crime Expert) हैं।

 

इसलिए यदि आप लॉ में ग्रेजुएशन करने के बाद साइबर लॉ को करियर विकल्प के रूप में चुन रहे हैं या चुनेंगे तो निश्चित रूप से आपका करियर उज्ज्वल है। दिन-प्रतिदिन साइबर कानून विशेषज्ञों की आवश्यकता बढ़ती जा रही है क्योंकि इंटरनेट पर अपराध बढ़ रहा है।

साइबर लॉ कई अन्य वकील करियर पथों में सर्वश्रेष्ठ कैरियर विकल्प में से एक है, इस प्रकार यह बैचलर ऑफ लॉ (एलएलबी) पूरा करने के बाद का एक अच्छा करियर विकल्प हो सकता है।

आशा है कि आपको साइबर लॉ कैरियर पथ से संबंधित सभी सवालों के उत्तर मिल गए होंगे “Cyber Lawyer कैसे बने” के इस आर्टिकल में और अब आप जानते हैं कि साइबर लॉयर कैसे बनना है। यदि इस करियर विकल्प के बारे में कोई संदेह है तो आप नीचे comment  करके पूछ सकते हैं!

1 thought on “Cyber Lawyer कैसे बने? Internet Lawyer | Law Career Guide”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *