(Poet) Shayar / Kavi कैसे बने? जाने [पूरी प्रक्रिया] शायर/ कवि बनने की

यह लेख आपको यह जानने में सहायता करेगा की आप Shayar / Kavi कैसे बने

अगर आप भी एक शायर या कवि बनना चाहते हैं तो इस लेख को पूरा पढ़े| यहां पर आपको वह सभी जरुरी जानकारी मिलेगी जो आपको एक अच्छा कवि बनने में सहायता करेगी|

Shayar / Kavi कैसे बने ? Step-by-Step प्रक्रिया Poet बनने की

शायर या कवि बनने के लिए आपको कोई शैक्षणिक योग्यता नहीं चाहिए| आप निचे बताये हुए Steps को फॉलो करके एक अच्छे कवी और शायर बन सकते हैं|

[Step-1] Poetry सुने और पढ़ें

शायर या कवि बनने के लिए सबसे पहला और महत्वपूर्ण कदम है की आप कितना पढ़ते हैं|

कुछ भी अच्छा लिखने के लिए आपके पास शब्दों का विशाल भंडार होना जरूरी है। अपने लेखन में परिपक्वता लाने के लिए आपको बहुत कुछ पढ़ना होगा।

अधिक से अधिक पढ़ें किसी भी भाषा के पुराने और नए शायर और कवि को पढ़ें| आप कविताओं और शायरियों के साथ में Rhyming भी जरूर पढ़ें|

पढ़ने से आप वाक्य की गहराइयों तक पहुँच पाएंगे और जल्द ही आप हर एक शब्द के पीछे की भावना को समझना शुरू कर देंगे।

पढ़ना आपको परिप्रेक्ष्य देता है। यह आपके लिए नए आयाम और विचार खोलता है। आप अलग-अलग दृष्टिकोणों में विभिन्न शब्दों का उपयोग सीखते हैं। यह आपको शब्दों के साथ खेलना सिखाता है। यह आपकी कविताओं और शायरियों को बेहतर बनाता है।

बहुत पढ़ने के बाद, जब आप लिखते हैं तब आपके शब्दों की गंभीरता बढ़ जाती है क्योंकि आपने सबसे अच्छे शब्द को उनके सबसे उपयुक्त स्थान पर रखा होता है|

आप जितना ज्यादा पढ़ेंगे उतना ज्यादा अच्छा लिखने में सक्षम होते चले जायेंगे|

[Step-2] Learn Hindi and Urdu

शायर या कवि बनने बनने के लिए आपको इन दोनों भाषाओं (Hindi और Urdu) की समझ और इन पर पकड़ होनी चाहिए| इसलिए अगर आपने अभी इन्हे नहीं सीखा है तो सीखना चालू करदें

[Step-3] Poetry की शैली सीखे

बहर, अरकान, रदीफ, काफिया, मिसरा ऊला, मिसरा सानी, मतला, मकता, समतुकांत, इत्यादि

Poetry लिखने की इन सभी शैलियों को जाने और समझें की इनका उपयोग सही तरीके से अपनी कविताओं में कैसे करे

[Step-4] शायरी / कविता लिखें

अगर आप केवल यह सोचेंगे की मुझे शायर या कवी बनना है तो आप कभी शायर नहीं बन पाएंगे|

आप यह सोच कर चलें की मुझे ढेर सारी कवितायेँ लिखनी है| इस प्रकार लिखते-लिखते आप खुद बखुद शायर बन जायेंगे और आपको मालूम भी नहीं चलेगा के आप कब शायर बन गए|

अगर आप अच्छा लिख सकते हैं तो आप शायर जरूर बन सकते हैं| आपका सबसे पहला उदेश्य शायरी/ कविता लिखना होना चाहिए|

एक सफल कवि वह है जो लगातार कविता, पढ़ने, लिखने और अपनी गलतियों को सुधारने में लगा रहता है|

यह भी जानें: Book Writer (लेखक) कैसे बने?

[Step-5] मुशायरे एवं कवी सम्मेलन में जाएँ

इन सम्मेलनों में आपको अपने क्षेत्र के बहुत से धुरंधर कवी मिलेंगे जिनसे आप बहुत कुछ सिख पाएंगे और बहुत से नए प्रतिभाशाली कवी मिलेंगे जिनसे आप प्रेरणा ले सकते हैं|

मुशायरे और कवी सम्मलेन में जाने से आपकी एक दूसरे से जान पहचान भी बनती है|

इसलिए अगर आपके क्षेत्र में जहाँ आप रहते हैं कहीं मुशायरा हो रहा है तो आप वहां जरूर जाएँ|

[Step-6] Join Poet’s Groups

अन्य कवियों के साथ जुड़ें और किसी कवि समूह का हिस्सा बने| समूह में अन्य कवियों को अपना काम दिखाएं और उनसे उसपर प्रतिक्रिया मांगें। प्रतिक्रिया के आधार पर आप अपनी कविताओं में सुधार करे और अपने आपको बेहतर बनाये|

मुशायरे या कवि सम्मेलनों में आपको बहुत से आपके जैसे लोग मिलेंगे आप उनसे जुड़ें|

[Step-7] मंच पर जाएँ

अपनी लिखी हुई कविता और शायरी दूसरों से साझा करे| अपनी बातें कवी प्रीमियों के सामने रखें|

मंच पर जाने से आप अपनी प्रस्तुति बेहतर कर पाएंगे| आप जान पाएंगे की मुझे किस प्रकार अपनी कविताओं/ शायरियों को लोगो के सामने पेश करना है ताकि लोगों को सुनने में ज्यादा आनंद आये|

 

शायर / कवि कौन बन सकता है?

कोई भी कवि बन सकता है। यदि आप शब्दों को एक साथ जोड़ सकते हैं और कुछ दिलचस्प और भावनाओं को जगाने वाले कुछ बोल लिख सकते हैं तो आपके अंदर हुनर है एक अच्छा शायर / कवि बनने का|

लेकिन आपको यह नहीं भूलना चाहिए कि एक कवि होना एक लक्ष्य नहीं है, बल्कि जीवन भर चलने वाली प्रक्रिया है। कोई भी कवि हो सकता है, लेकिन एक अच्छा कवि होने के लिए बहुत कौशल और अभ्यास करना पड़ता है।

कुछ लोग यह भी बोलते है की शायर बना नहीं जाता शायर जन्मजात से होता है| मतलब के आप जन्म से ही शायर पैदा होते हैं|

 

कविता और शायरी को कहां प्रकाशित करे?

सबसे बड़ा प्रश्न जोकि अक्सर लोग जानना चाहते की हम अपनी लिखी हुई कविता और शायरी को कहां प्रकाशित करे क्योंकि शुरू में तो आपको कोई chance नहीं देगा|

आज के दौर में इसका जवाब मुश्किल नहीं है| आपका जवाब आपके हाथो में है आपका Mobile Phone.

आप Instagram और Facebook पर अपना अकॉउंट बना सकते हैं और उसमे अपनी लिखी हुई कविताओं और शायरियों को लोगो के साथ साझा कर सकते हैं|

इसके साथ ही आप YouTube पर भी अपना शायरी का चैनल बना सकते हैं और पैसे भी कमा सकते हैं वीडियो अपलोड करके|

 

क्या शायर बनने के लिए दिल टूटना जरुरी है?

क्या यह सच है कि अच्छा संगीत या कविता लिखने के लिए आपका कठिन समय से गुजरना जरुरी है या आपका दिल टुटा हुआ होना चाहिए?

एक अच्छा गीतगार या कवी बनने के लिए यह कोई जरुरी नहीं है की आपका अतीत भयावह होना चाहिए, लेकिन आपको दर्द की समझ होनी चाहिए।

कविता/ शायरी या संगीत लिखने में ऐसा होता है कि यदि आप स्वयं इसे लिखते समय उन शब्दों को महसूस करते हैं तो अन्य निश्चित रूप से इसे महसूस करेंगे और इसे पसंद करेंगे।

जानें (गीतकार) Song Writer कैसे बने?

यदि आप कविता या संगीत लिखना चाहते हैं, तो मेरा मानना है कि आपको अपने आस-पास की चीजों को देखना शुरू करना चाहिए और उन चीजों पर चिंतन करना चाहिए। आपको अपने आसपास और आप में जो कुछ दिखाई देता है, उसे समझने की कोशिश करे।

स्पष्ट रूप से, आपको कविता या गीत लिखने के लिए कठिन जीवन की आवश्यकता नहीं है| आपको बस अपने आपको गहराई से महसूस और समझने की जरुरत है|

11 thoughts on “(Poet) Shayar / Kavi कैसे बने? जाने [पूरी प्रक्रिया] शायर/ कवि बनने की”

    1. मुझे भी कवियत्री बनना है। उसके लिए रास्ता कैसे निकले समझ नहीं आ रहा मैं अपनी कविताओं को कब और कहां और कैसे पब्लिश करवाओ और कवि सम्मेलन कब और कहां होता है यह कैसे पता लगाएं

      1. seema ji esa nahi pata lagta h ki kavi samelan kaha chal raha h mai soch raha hun sare milke apna ek chanal bnate h or practice kerte h jise kuch to fayda hoda hum sabhi ko jo bhi judna chahta hoga humse unhe bhi,

    2. कृष्णा पटेल

      सर निवेदन है मुझे कवि बनना है और मुझे मंच पर बोलने का दुसरो की कविताओं को पढ़ने का बहुत ही शौक है । तो क्या में दुसरो की लिखी कविताये पढ़ सकता हु? मुझे मंच कहा मिलेगा । साथ ही में खुद से लिखने का हुनर सीखना चाहता हु।

    3. !निशान!

      के आसान नहीं जिंदगी
      पत्थर को भी सोना बनना पड़ता है
      है भरोसा तुझे खुदपर
      तो आसमां को भी झुकना पड़ता है

      ये लकीरे तो तेरी ही है
      चलता है जिसपर तू
      मुड़कर ना देख तू
      तेरे ही पैरो के निशां है

      चला है जिस रस्ते पे तू
      माना कठिनाईया है
      यही सच्ची जिंदगी का मीत है
      आखिर तो तेरी ही जित है

      चलता है जिसपर तू
      तेरे ही पैरो के निशां है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *