Sound Engineer कैसे बने [Step-by-Step] सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करें

यदि आप Sound Engineering के क्षेत्र में अपना करियर शुरू करने की योजना बना रहे हैं तो यह लेख आपके लिए है। यहां आपको हर एक वह जानकारी दी जाएगी जोकि आपके लिए जानना बहुत ही महत्वपूर्ण है|

Sound Engineer कैसे बने के इस लेख को पढ़ने के बाद आपको यह पता चल जाएगा के मुझे शुरुआत कैसे और कहाँ से करनी चाहिए अगर मुझे Sound Engineering में अपना करियर बनाना है तो|

“Sound Engineer कैसे बने के इस लेख में आपको ये सभी जानकारियां प्राप्त होंगी

Sound Engineering क्या है?

Sound Engineering विभिन्न प्रकार की ध्वनि तरंगों का अध्ययन करना है, जो की wavelength और frequency में एक दूसरे से अलग हो सकती हैं| । ध्वनि इंजीनियरिंग हमें यह भी सिखलाता है के हम कैसे किसी भी आवाज या ध्वनि को अपने हिसाब से ढाल (modify) वह पुन: उत्पन्न (reproduce) कैसे कर सकते हैं विभिन्न मशीनरी और उपकरणों का उपयोग करके|

Sound Engineer एक तकनीकी व्यक्ति (technical person) होता है जो की Sound Engineering के अपने ज्ञान का उपयोग करके विभिन्न प्रकार की आवाजों और ध्वनि प्रभावों को रिकॉर्ड, edit और मिश्रण (mixing) करने के लिए करता है ताकि इसे सुनने में ज्यादा अच्छा और सुखद बनाया जा सके।

Sound Engineering करियर विकल्प एक आकर्षक और रोमांचक career विकल्प प्रतीत होता है और हो भी क्यों न, आप आखिरकार धवनियों के साथ काम करने जा रहे हैं और आजकल तो यह हमारे जिंदगी का काफी महत्वपूर्ण हिस्सा बन चूका है| दुनियां में शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति होगा जो गाने और संगीत सुनना पसंद नहीं करता होगा।

और आप वह व्यक्ति होंगे जो संगीत बनाने के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है जोकि गानों को सुनने में और भी अधिक सुखद बनाता है। अपने स्वयं के बनाए हुए संगीत और गानों को सुनना निश्चित रूप से एक अद्भुत होता है। तो चलिए जानते हैं की एक Sound Engineer कैसे बना जाये|

Sound Engineer को Audio Engineer के रूप में भी जाना जाता है|

 

Sound Engineer बनने के लिए आवश्यक शिक्षा

बहोत सारे लोगों के बिच में यह गलत फहमी होती के Sound Engineer या Audio Engineer बनने केलिए आपके पास Engineering की डिग्री होनी चाहिए क्योंकि इसमें “Engineering” शब्द आता है| पर में आपको को बता दूँ की यह पूरी तरह से गलत बात आपको कोई Engineering की डिग्री नहीं चाहिए| यह महज एक नाम है|

आपको वास्तव में किसी भी महंगे इंजीनियरिंग डिग्री की आवश्यकता नहीं है, केवल एक चीज जो आपको चाहिए वह है विभिन्न प्रकार की आवाज़ों और धवनियों की अच्छी समझ। साथ ही इन ध्वनियों को कैसे ट्यून करना है जिससे की दर्शकों का अच्छा मनोरंजन हो सके|

संगीत को बनाने (reproduce) और अच्छा बनाने (modification) केलिए आपको कौशल की जरुरत होती है| जिसके लिए आपको Sound Engineering की पढ़ाई करनी होती है। इसके लिए, आप को किसी भी संगीत के स्कूल में दाखिला लेना होगा| भारत में ऐसे कई कॉलेज हैं जहाँ Sound Engineering पढ़ाया जाता है|

साउंड इंजीनियरिंग सीखने के लिए कॉलेज में admission न लेने के बजाय, आप किसी संगीत के स्टूडियो को भी चुन सकते हैं। इसके बारे मैं आपको Sound Engineer कैसे बने के इस आर्टिकल मैं आगे विस्तार से जानने को मिलेगा के आपको क्यों किसी Music Studio को चुनना चाहिए Sound Engineering सिखने के लिए|

इस करियर में सबसे महत्वपूर्ण जो बात है वह है संगीत और ध्वनियों के बारे में आपका ज्ञान कितना है और आप ध्वनियों को कैसे मिश्रित (mix) करते हैं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपने वह ज्ञान और कौशल कहाँ से सीखें हैं|  

 

Sound Engineering के पाठ्यक्रम में आप क्या-क्या सीखेंगे?

चाहे आप admission कहीं भी लें आपको इन सभी निम्नलिखित चीजों का ज्ञान जरूर दिया जायेगा…

  • सभी ऑडियो मूलभूत सिद्धांतों को ध्यान में रखते हुए स्वच्छ ऑडियो रिकॉर्ड कैसे किया जाता है|
  • आवाजों की बुनियादी समझ और उनके विभिन्न रूपों और शैली के बारे में जान पाएंगे
  • ध्वनि की गतिशीलता (dynamics) और आवृत्ति (frequency) को कैसे नियंत्रित किया जाता है|
  • अलग अलग तरह की आवाजों को सुनकर उनका विश्लेषण करना साथ ही विभिन्न उपकरणों का उपयोग करके ऑडियो वेवफ़ॉर्म को पहचानना और उनका विश्लेषण करना|
  • बेमतलब के शोर-शराबे जोकि रिकॉर्डिंग ख़राब कर सकती है उनको कम करने के तकनीकों को जानेंगे|
  • गाने के पुनरुत्पादन (reproduce) के लिए उपलब्ध विभिन्न प्रकार के सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर की जानकारी|
  • तरंगों (Waveforms) के मौलिक विशेषताओं के बारे में जान पाएंगे जैसे की frequency, wavelength, Signal to noise ratio (SNR), velocity, phase, Pitch, Harmonics, amplitude इत्यादि
  • बुनियादी इलेक्ट्रॉनिक्स components (capacitor, resistor, transducer etc.) और उपकरणों की समझ
  • Electronics के बुनियादी सिद्धांत: Voltage, Current, Power, Alternate and Direct Current (AC & DC)
  • किस भी गीत या गाने का ढांचा कैसे तैयार होता है
  • Synthesizer क्या है और इसका संगीत उत्पादन में उपयोग कैसे किया जाना चाहिए?
  • आप संगीत बनाने के लिए विभिन्न तकनीकों को जानेंगे और साथ में बीट और ताल निर्माण के बुनियादी सिद्धांत को भी जानेंगे
  • Surround Sound (आपके आसपास की साउंड तकनीक, उदहारण के तोर पर movie theatre) प्रारूप जैसे Dolby Digital, DTS, और SDDS इत्यादि।
  • उपकरण को कैसे लगाया या स्थापित किया जाये की vocal artist और musical instruments की recording अच्छे से हो
  • संगीत उद्योग में Automation का क्या मतलब है और जब कंप्यूटर का उपयोग करके संगीत बनाने की बात आती है तो यह क्यों जरूरी है।
  • विभिन्न प्रकार के माइक्रोफोन (Mic) और उनकी विशेषताएं
  • और सबसे महत्वपूर्ण बात आपके कोनों की training ताकि आपका कान बहुत अच्छी तरह से प्रशिक्षित हो सके गलतिओं और खामियों को पकड़ने केलिए।

भारत के सर्वश्रेष्ठ Sound Engineering College

ये कुछ निम्नलिखित कॉलेज हैं जहां अधिकांश उम्मीदवार Sound Engineering सीखने के लिए जाते हैं…

Best and Popular Music Studio in India

भारत के जाने-माने और सर्वश्रेष्ठ संगीत स्टूडियो जो ध्वनि इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं…

इन करियर विकल्पों को भी जानें:

Sound Engineering सिखने के लिए कहाँ admission लिया जाये Music Studio में या फिर किसी College में

 मेरे शोध के अनुसार Music Studio कुछ कॉलेजों की तुलना में Sound Engineering सीखने के लिए कहीं बेहतर जगह है।

यह पूरी तरह से मेरी राय है आप मुझसे असहमत भी हो सकते हैं, मैं गलत हो सकता हूँ। लेकिन, मैं Music Studio के पक्ष में क्यों हूं?

कॉलेजों में एडमिशन न लेने के बजाय आपको किसी अच्छे संगीत स्टूडियो में क्यों admission लेना चाहिए इसके कई कारण हैं। यहां पर मैं केवल उन महत्वपूर्ण बिंदुओं को ही साझा करूंगा जो मुझे Music Studio में admission लेने के लिए convince कर पाए और  अधिक उचित लगें है।

[1] पहला कारण है कोर्स की अवधि है, आम तौर पर कॉलेज आपके 1 से 3 साल का समय लेते हैं या अधिक भी ले सकते हैं जबकि स्टूडियो केवल अधिकतम 1 वर्ष का समय लेगा।

[2] कॉलेज की फीस स्टूडियो की तुलना में अधिक है। जोकि बहोत सारे लोगों के लिए एक बड़ा कारण होता है Music Studio में admission लेने का, और हो सकता है आपके लिए भी हो| और कौन नहीं चाहता के में किसी भी चीज़ को कमसे कम वक़्त में और कम से कम पैसों में सिख लूँ|

[3] स्टूडियो आम तौर पर अत्याधुनिक सुविधाओं (state-of-the-art facilities) से लेस होते हैं। तो आपको नवीनतम तकनीकों के साथ काम करने का अनुभव मिलेगा। जोकि इस करियर में आपको success होने में मदद करेंगे|

[4] स्टूडियो में आप सीधे कलाकार को अपनी आवाज को रिकॉर्ड करते हुए देख सकते हैं और Sound Engineer उन्हें अच्छी ऑडियो प्राप्त करने में कैसे मदद करता है। अभिनेता, संगीतकार या अन्य कलाकार कॉलेजों में अपने ऑडियो रिकॉर्ड करने के लिए नहीं जाते हैं। तो वहां पर आप अपने काम से संबंधित अन्य लोगों के साथ कुछ संबंध बना सकते हैं, जोकि आपको आगे काम (job) दिलाने में मदद कर सकते है।

तो इन सभी पॉइंट्स के आधार पर, मैंने बताया कि आपको Music Colleges में एडमिशन न लेने के बाजए क्यों Music Studio में admission लेने के बारे में विचार करना चाहिए।  

 

Audio/Sound Engineer बनने के लिए आवश्यक कौशल क्या हैं? आपको क्या-क्या आना चाहिए?

ये कुछ निम्नलिखित कौशल हैं जो की प्रत्येक Sound Engineer के पास होने ही चाहिए …

  • ध्वनियों की समझ
  • सुनने की अच्छी शक्ति होनी चाहिए
  • विभिन्न प्रकार के Editing & Mixing software और plugins को चलाने में सक्षम होना चाहिए
  • ध्वनिक wavelength और frequency के बारे में अच्छी जानकारी रखना
  • Recording, Editing, Mixing, Mastering
  • बुनियादी कंप्यूटर संचालन का ज्ञान
  • केबल्स की सोल्डरिंग करनी आनी चाहिए
  • English and Communication skills

एक Audio Engineer कौन-कौन से उपकरणों (equipment) का प्रयोग करता है?

ये निम्नलिखित आवश्यक उपकरण हैं जिन्हें हर Sound Engineer संगीत को रिकॉर्ड करने और पुन: उत्पन्न करने केलिए उपयोग में लेता है …

  • Microphone
  • Headphone
  • Audio Interface (इसका इस्तेमाल कई सारे musical instruments या vocal artist की आवाज़ों को रिकॉर्ड करने के लिए किया जाता है)
  • DAW (Digital Audio Workstation) viz. Pro Tools, Logic, Audacity, Ableton Live
  • Computer/ Laptop with basic configuration
  • Studio Monitors/Speakers
  • Pop filter

DAW एक software होता है जिसको Sound Engineer recording, editing, mixing and mastering करने के लिए इस्तेमाल करते हैं

Note: उपरोक्त सूचीबद्ध DAW में से आप Audacity सॉफ़्टवेयर को अपने शुरुआती दिनों में ऑडियो रिकॉर्ड और editing करने में इस्तेमाल कर सकते हैं| क्योंकि यह open-source है इसका मतलब आपको कोई पैसे नहीं देने पड़ेंगे इस software को इस्तेमाल करने के लिए| Audacity को डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें

ऊपर में बताये हुए उपकरण और सॉफ़्टवेयर बहुत ही बुनियादी हैं इनका इस्तेमाल करके आप अपना एक छोटा सा Home Studio बना सकते हैं| जिससे की आप अपने editing और mixing के ज्ञान को और बढ़ा सकते हैं निरंतर अभ्यास करके|

Audio Engineer kaise bane

Home Studio Setup

एक Commercial Studio में या किसी Live concert में एक Sound Engineer कई अलग-अलग प्रकार के उपकरणों का उपयोग करता है ऊपर बताये हुए उपकरणों के अलावा, जैसे कि…

  • Mixing and mastering plugins
  • Sound Design Tools
  • Expanders
  • Reverb/Delay pedal
  • Master clock
  • Digital converters
  • Mixer
  • Compressor
  • Equalisation (EQ)
  • Limiters
  • Patch bay

इन सभी चीजों को जानने के बाद चलिए अब जानते हैं Sound Engineer बनने के Step-by-Step process को| जिस प्रक्रिया को में आपको बताने जा रहा हूँ वह बहुत practical है जिसको अधिकांश सफल Audio Engineers ने पालन किया है 

 

Sound Engineer कैसे बने [Step-by-Step] Guide Audio Engineering

[Step 1] High School

आपको किसी भी site (Arts/Commerce/ Science) से अपने senior secondary high school (12 वीं कक्षा) को पारित करना होगा|

[Step 2] जानकारी प्राप्त करें Sound Engineering के बारे में

Sound Engineering को समझने के लिए इससे बेहतर शायद ही कोई तरीका हो के आप Sound Engineer को काम करते हुए देखें| इसके लिए आप किसी live event के backstage में जा कर देख सकते हैं की आखिर Sound Engineer करता क्या है| वहां आपको Audio Engineer के महत्व के बारे में मालूम चलेगा और वह कैसे किसी Audio को tune और modify करता है लोगों का मनोरंजन करने केलिए|

एक बड़े लाइव संगीत कार्यक्रम में Audio Engineer के साथ बातचीत हो पाना लगभग असंभव है इसलिए आप कुछ छोटे और मध्यम स्तर के लाइव संगीत कार्यक्रमों में Sound Engineer से मिलने का प्रयास करें। इसके अलावा आप एक Sound Engineer को Bar, Wedding party और अन्य तरह की कुछ बड़ी पार्टियों में भी मिल सकते हैं|

यदि संभव हो तो आप उससे बात करने का प्रयास कर सकते हैं और पूछ सकते हैं कि अगर आप को किसी भी तरह की मदद की ज़रूरत है तो आप उसे कर सकते हैं। 

[Step 3] Education को पूरा करें

ऐसे कई कॉलेज और निजी चलने वाले संगीत स्टूडियो हैं जो Sound Engineering का पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं जिन्हें मैंने पहले ही इस आर्टिकल में सूचीबद्ध किया है।

वैसे तो आप अपने घर के स्टूडियो सेटअप के साथ ही घर पर भी ध्वनि इंजीनियरिंग सीख सकते हैं। लेकिन इसमें बहुत अधिक समय लगता है। अगर आपके पास टाइम की कमी नहीं है तो आप इस सुझाव को अपना सकते हैं

Colleges और Studios आपको थोड़े समय में ध्वनि इंजीनियरिंग सीखने में मदद करते हैं। संस्थान में आपको जो teacher (Sound Engineer) मिलेंगे वह बेहद ही कुशल होते हैं और उनको कई सालों का अनुभव होता है| वहां पर आपको ध्वनि संबंधी सिद्धांतों के बारे में संक्षेप में जानकारी प्राप्त होगी|

अगर आपको किसी कॉलेज व Music Studio में Education प्राप्त नहीं करनी तो आप के पास एक और विकल्प है Sound Engineering सिखने का

[OR]

[Step 3] Sound Engineer के अंतर्गत काम करें (Internship)

यदि आपके लिए यह संभव है आप ऐसा कर सकते हैं की किसी Music Studio (भले ही छोटा क्यों न हो) में जाकर काम (Internship) करने केलिए पूछें या तो आप किसी Sound Engineer से भी पूंछ सकते हैं उसके अंतर्गत काम करने केलिए|

अपना हाईस्कूल पूरा करने के बाद आप इसके लिए जा सकते हैं। आपको एक Sound Engineer बनने के लिए वास्तव में किसी भी औपचारिक प्रशिक्षण की आवश्यकता नहीं है।

साउंड इंजीनियरिंग को डॉक्टर, इंजीनियरिंग, वकील इत्यादि जैसे शैक्षणिक तरीके से नहीं पढ़ाया जा सकता है।

यह एक रचनात्मक क्षेत्र है जिसे सिखने केलिए आपको इसके बारे में passionate होना चाहिए और आपको इसके बारे में अच्छी समझ और ज्ञान होना चाहिए theoretically भी और practically भी|

आपको अपने कानों को प्रशिक्षित करना होगा अलग-अलग आवाजों के प्रति, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपको शिक्षा कहां मिली है और आपने अपना कान कहाँ से प्रशिक्षित करा है| 

Sound Engineering के करियर विकल्प में ऐसा कोई आधिकारिक विधि नहीं लिखी गई है जो कहती है कि यदि आप ध्वनि इंजीनियरिंग में करियर बनाना चाहते हैं तो आपके पास डिग्री, प्रमाणन (certifications) या किसी प्रकार का लाइसेंस होना चाहिए।

एकमात्र चीज जो सबसे ज्यादा मायने रखती है वह है music के प्रति आपका ज्ञान और संगीत की समझ।

यदि आपको किसी ध्वनि इंजीनियर के साथ काम करने का मौका मिलता है तो ध्वनि इंजीनियरिंग सीखने के लिए इससे बेहतर कोई तरीका नहीं है और सबसे अच्छी बात यह है कि आपको Sound Engineering सीखने के लिए एक रुपये का भी भुगतान नहीं करना है बल्कि आपको काम करने के पैसे मिलेंगे|

लेकिन स्टूडियो में  बिना किसी अनुभव या किसी कनेक्शन के काम मिलना बहुत ही कठिन है।

[Step 4] अपने कौशल (skills) का विकास करें

जैसा कि मैंने “Sound Engineer कैसे बने के इस आर्टिकल में पहले ही बताया है की इस करियर में आप तभी सफलता प्राप्त कर सकते हैं जब आप के पास sounds की अच्छी समझ और ज्ञान हो| प्रत्येक सफल ध्वनि इंजीनियर को यह पता होता है कि क्या करना है और कैसे करना है, यहां तक कि बहोत से Sound Engineers कलाकारों को सुझाव भी देते हैं किसी संगीत या आवाज को अच्छा बनाने केलिए|  

[Step 5] अपना resume बनाएं और नौकरी के लिए आवेदन करें

आपके द्वारा Microsoft Word में बनाए गए resume के साथ-साथ CD के रूप में या वेबसाइट (CV में अपनी वेबसाइट का यूआरएल लिंक उल्लेख करें) के माध्यम से अपनी रिकॉर्डिंग फ़ाइल को जरूर संलग्न (attach) करें, जो आपके द्वारा बनाई गई है|

अपने काम के बारे में बताना आपके confidence को दर्शाता है|

यदि आप job प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको अपनी प्रतिभा (talent) को औरों को दिखाना होगा और एक Sound Engineer के रूप में आपकी प्रतिभा यह है कि आप कैसे एक विशेष ध्वनि (sound) की mixing और mastering करते हैं|

 

India के Famous Sound Engineers

Sound Engineer Job Designation

ये पदनाम हैं जो आपको अपने ध्वनि इंजीनियरिंग के करियर में मिलेंगे…

  • Sound Engineer/ Audio Engineer
  • Studio Manager
  • Music Composer
  • Studio Technicians                                                                             
  • Sound Designer
  • Acoustic Consultant
  • Front of house (FOH) Engineer
  • Digital remastering Engineer
  • Sound recordist
  • Sound Mixer
  • Production sound mixer
  • Mixing Engineer
  • Live Sound Engineer
  • Location sound Engineer

एक Sound Engineer जॉब के लिए किन-किन जगहों पर apply कर सकता है?

Sound Engineering के बाद आप इन सभी स्थानों पर आप रोजगार पा सकते हैं वे हैं…

  • Radio station
  • Theatre and auditorium
  • Commercial advertisement firms
  • Amusement parks 
  • Concerts and live performance
  • Music and audio recording studios
  • TV and Entertainment industry
  • Video Gaming studio
  • Sports games stadium
  • IT Industry
  • Cartoon and animation filmmaking studio

Sound Engineers का एक विशाल बहुमत इन उपरोक्त सूचीबद्ध कार्यस्थलों में काम नहीं करता है। बहोत से Sound Engineers घर से काम (Freelancing) करना पसंद करते हैं अपना खुद का छोटा सा स्टूडियो सेटअप बना कर|

 

एक Sound Engineer किन-किन कार्यों के लिए जिम्मेदार होता है? Job Responsibilities

ऊपर के बताये हुए पदानुसार के आधार पर, आप ध्वनि को रिकॉर्ड करने, संपादित (edit) करने, मिश्रण (mix) करने और इनपुट ध्वनि को मास्टर (mastering) करने के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं|  पर ये कुछ निम्नलिखित जिम्मेदारियां हैं जो की बहोत ही common है और इसको हर Sound Engineer को करना पड़ता है|  

Sound Engineer कैसे बने

  • सही केबल्स के साथ सभी संगीत वाद्ययंत्र (musical instruments) और उपकरणों को  इंटरकनेक्ट करना|
  • आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि सभी ध्वनि प्रणाली (sound systems) ठीक से काम कर रही है|
  • समय-समय पर ध्वनि उपकरणों की जांच करना और कभी-कभी आप नियमित (regular) रूप से जांच करेंगे, खासकर यदि आप लाइव संगीत कार्यक्रमों या किसी बैंड के साथ काम कर रहे हैं।
  • कलाकारों / संगीतकारों, संगीत निर्माताओं और निर्देशकों की आवश्यकताओं को समझना ताकि आप उन्हें वही ट्यूनिंग प्रदान कर सकें जोकि उनको अपने गाने में चाहिए|
  • Vocal artist और अन्य संगीत वाद्ययंत्र की सभी आवाज़ें रिकॉर्ड करना|
  • रिकॉर्डिंग के समय, आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि सभी प्रकार की आवाजें किसी भी अप्रासंगिक शोर- शराबे (irrelevant noises) के बिना साफ और अच्छी रिकॉर्ड हो रही हैं।
  • आप ध्वनि के स्तर को नियंत्रित करने के लिए जिम्मेदार होंगे और माइक्रोफ़ोन के सभी आउटपुट परिणामों को जो कई संगीत वाद्ययंत्रों से जुड़ा हुआ होता है।
  • यदि आप किसी फिल्म प्रोडक्शन कंपनी के साथ काम कर रहे हैं, तो आपका काम दो भाग में बंटा होगा प्री-प्रोडक्शन और पोस्ट-प्रोडक्शन। प्री-प्रोडक्शन में, आप ऑडियो को रिकॉर्ड करने के लिए ज़िम्मेदार हैं। और पोस्ट-प्रोडक्शन में आप बेहतर ऑडियो गुणवत्ता के लिए ध्वनि की editing, mixing, mastering और ध्वनि पुन: उत्पन्न करने केलिए जिम्मेदार होंगे|

भारत में Sound Engineering का फ्यूचर में क्या Scope है?

क्या आप किसी वीडियो को बिना आवाज़ के देखना पसंद करेंगे? शायद नहीं, इस कारण की सहायता से, आप समझ सकते हैं कि Sound Engineer किसी भी फिल्म या वीडियो में कितना महत्व रखता है क्योंकि अंत में वे लोग ही हैं जो वीडियो को दिलचस्प बनाने के लिए Sound और विभिन्न ध्वनि प्रभाव को उत्पन्न करते हैं।

जैसा कि मैंने Sound Engineer कैसे बने के इस आर्टिकल में ऊपर बताया है, साउंड इंजीनियरिंग सीखने के बाद आपके पास बहुत सारे करियर विकल्प हैं मतलब के इस करियर में आपको ढेरों opportunities मिलेंगी|

जैसे के आपको पता है music industry कितनी तेजी के साथ बढ़ रही है और बढे भी क्यों न आजकल  हर एक आदमी अपनी लाइफ मैं entertainment चाहता है| जब भी हमारा मूंड ख़राब होता है या किसी खुशी के मोके पर या ऐसे भी,  हम सभी कुछ ऐसा सुन्ना और देखना पसंद करते हैं जोकि entertaining हो|

भारत दुनिया के सबसे बड़े फिल्म उत्पादक देशों में से एक है, यहाँ पर सैकड़ों और हजारों फिल्में हर साल रिलीज हो रही हैं, इसलिए अच्छे Sound Engineers की मांग बहुत बड़ी है।

और किसी भी music या motion video को मनोरंजक बनाने के लिए हमे एक Sound Engineer की जरुरत होती है| जोकि उस म्यूजिक में कुछ कमाल सा ही करने की क़ाबलियत रखता है|

मीडिया एंड एंटरटेनमेंट उद्योग दुनिया भर में सबसे तेजी से बढ़ते उद्योगों में से एक है, इसलिए यदि आप ध्वनि इंजीनियरिंग में करियर बनाना चाहते हैं और एक Sound Engineer बनना चाहते हैं तो आपको निश्चित रूप से इस करियर को चुनना चाहिए।

 

Audio/ Sound Engineer Salary in India

भारत में एक fresher Sound Engineer, जिसको अभी इंडस्ट्री का अनुभव नहीं है, की औसत salary 6,000 ₹ से लेकर 35,000 ₹ प्रति माह हो सकती है।

बहोत सरे Sound Engineers ऐसे भी हैं जोकि घर बेठे ही अपने Home Studio से Sounds की mixing और mastering करके 30,000 INR प्रति माह से भी अधिक कमा लेते हैं|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *